Recents in Beach

Chunaav Achaar Sanhita Kya Hai,आचार संहिता क्या होता है जानिए पूरी सच्चाई ?


आचार संहिता क्या होता है जानिए पूरी सच्चाई ?


जैसे ही किसी स्टेट में चुनाव आते हैं तो सभी लोग कहते हैं आचार संहिता लग जाएगी आचार संहिता लग जाएगी भाई आखिर आचार संहिता होती क्या है आचार संहिता के नियम क्या है आखिर आचार संहिता के नियम बनाता कौन है आचार संहिता की पूरी जानकारी पढ़ें 

आदर्श आचार संहिता निर्वाचन आयोग द्वारा जारी की जाती है हमारे देश में चुनाव आयोग के नाम से एक स्वतंत्र संस्था है जो स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव करवाती है चुनाव आयोग में मुख्य चुनाव आयुक्त तथा दो अन्य चुनाव आयुक्त होते हैं इनकी नियुक्ति राष्ट्रपति करता है पहले जानिए कि निर्वाचन आयोग क्या  काम करता है 

निर्वाचन आयोग के क्या  काम होते हैं :-

चुनाव आयोग द्वारा आचार संहिता के नियम बनाए जाते हैं 
मतदाता सूची तैयार करना तथा उन्हें  संशोधित करना चुनावों के लिए सामान्य नियम बनाना चुनाव की तिथि तथा कार्यक्रम की घोषणा करना नामांकन पत्रों की सुरक्षा की व्यवस्था करना राष्ट्रपति उपराष्ट्रपति संसद तथा राज्य विधानमंडल के चुनावों का अधीक्षण निर्देशन तथा नियंत्रण करना 
राजनीतिक दलों को चुनाव चिन्ह आवंटित करना 
चुनाव के समय राजनीतिक दलों तथा उम्मीदवारों के लिए आचार संहिता बनाना 

राजनीतिक दलों को रेडियो तथा टेलीविजन पर चुनाव प्रचार के लिए समय तथा दिन निश्चित करना 
पक्षपात या अन्याय की आशंका होने पर चुनावों को रद्द करना 
उम्मीदवारों को नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए 8 दिनों का समय दिया जाता है 
चुनाव प्रचार मतदान आरंभ होने के 48 घंटे पूर्व समाप्त हो जाता है



आचार संहिता क्या होता है जानिए पूरी सच्चाई ?

चुनाव आयोग द्वारा किसी भी अप्रिय घटना को रोकने तथा शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए आचार संहिता के नियम बनाए हैं                                                                                                        

#किसी भी राजनीतिक दल को आचरण नहीं करना चाहिए जिससे किसी धर्म को ठेस पहुंचे तथा मत प्राप्त करने के लिए किसी संप्रदाय या धर्म की दुहाई  ना दे                                                                              

#किसी भी राजनीतिक पार्टी को अपना ध्वज  बैनर किसी के भूमि भवन पर उसकी बिना अनुमति के  नहीं लगाने चाहिए                                                                                                                                        

#किसी भी राजनीतिक पार्टी को अपनी सभा करने के लिए प्राधिकारी से अनुमति लेनी चाहिए                     

#जुलूस का आयोजन करने वाले दलों को यह पहले ही सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि जुलूस कहां से शुरू होगा किस समय पर और कहां तक जुलूस निकाला जाएगा इन के समय में कोई फेरबदल नहीं करना चाहिए तथा यातायात में कोई भी परेशानी  ना हो                                                                                     

#मतदान  के दिन तथा उसके 48 घंटे पहले कोई भी शराब का वितरण ना करें                                           

#सरकारी कर्मचारी आचार संहिता लगते ही चुनाव आयोग के  कर्मचारी बन जाते हैं उसके नियमों पर ही काम करते हैं                                                                                                                                       

#आचार संहिता लगते ही उस प्रदेश के मंत्री मुख्यमंत्री कोई भी नई घोषणा नहीं कर सकते उद्घाटन नहीं कर सकते यदि ऐसा किया जाता है तो आचार संहिता का उल्लंघन माना जाता है                                             

#आचार संहिता लगते ही वाहन हेलीकॉप्टर तथा सरकारी वाहनों का चुनाव प्रचार के लिए उपयोग नहीं किया जाता है                                                                                                                                          

#आचार संहिता लगते ही सरकारी  पैसा का उपयोग नहीं ले सकते                                                                                 

#मतदाताओं को किसी भी प्रकार की रिश्वत नहीं दी जाती है                                                                              

#मतदान केंद्र के 100 मीटर के दायरे में चुनाव प्रचार पर रोक रहती है                                                              

#किसी भी सरकारी संसाधनों का उपयोग चुनाव प्रचार में नहीं किया जा सकता है                                              

#चुनाव प्रचार में पैसों का दुरुपयोग नहीं किया जा सकता है                                                                          

#कोई भी सत्ताधारी पार्टी जिसकी केंद्र में सरकार है वह अपने दौरे का इस्तेमाल चुनाव प्रचार में सरकारी संसाधनों का उपयोग नहीं कर सकता है                                                                                                

#कोई भी नई घोषणा नहीं कर सकता है शिलान्यास नहीं कर सकता है                                                                

#कोई भी राजनीतिक पार्टी वोटरों को लुभाने के लिए कोई भी गलत तरीके इस्तेमाल ना करें जो आचार संहिता का उल्लंघन माना जाए                                                                                                                    

#जो भी आचार संहिता का उल्लंघन करता है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती है 



प्रिय मित्रों  यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी ऐसी ही जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट का लिंक नीचे दिया गया है कृपया फॉलो करें  
                                                   http://www.tipstool.in/