Recents in Beach

Happy diwali pe savdhani हैप्पी दिवाली पर सावधानियां

Happy diwali pe savdhani हैप्पी दिवाली पर सावधानियां





 सबसे पहले हम बताते हैं कि दिवाली क्यों मनाई जाती है इस दिन भगवान राम 14 वर्ष का वनवास काट कर अयोध्या वापस आए थे भगवान
राम की अयोध्या लौटने की खुशी में अयोध्या वासियों ने घी के दीपक को जलाएअपनी खुशी को व्यक्त करने के लिए पूरी अयोध्या को घी के दीपको से रोशन कर दिया और भगवान राम ग स्वागत किया ,मिठाइयां बांटी गई
,ढोल नगाड़े बजाए गए दिवाली का त्यौहार कार्तिक मास की अमावस्या
को मनाया जाता है 

यह त्यौहार असत्य पर सत्य की विजय और अंधकार पर प्रकाश की विजय का प्रतीक है 
दिवाली पर मिठाइयां ,पकवान बनाए जाते हैं रंगोली सजाई जाती है घर को रोशनी से सजाया जाता है पटाखे चलाए जाते हैं लक्ष्मी गणेश जी का  पूजन किया जाता है सभी लक्ष्मी गणेश जी से अपने आने वाली समय शुभ करने का  संकल्प लेते हैं 

दिवाली से 1 दिन पहली छोटी दिवाली आती है और छोटी दिवाली से 1 दिन पहली धनतेरस आती है इस दिन भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाती है और सभी नए वस्त्र सोने चांदी के आभूषण खरीदते हैं भारत में दिवाली पर बहुत ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है दिवाली पर पटाखे चलाए जाते हैं लेकिन  पटाखे चलाने पर सावधानियां भी रखनी चाहिए   

Happy diwali pe savdhani हैप्पी दिवाली पर  सावधानियां  


  • दिवाली पर पटाखे छोड़ने से पहले 1पानी से भरी बाल्टी पास रखनी चाहिए ऐसा इसलिए क्योंकि पटाखे चलाते समय हाथ जल जाए तो उस दर्द को कम करने के लिए हमें पानी से निरंतर उसे धोना चाहिए रगड़ना नहीं चाहिए                                                                                                                                                     
  • पटाखे कम ही चलाने चाहिए क्योंकि यह बहुत ही प्रदूषण करते हैं इससे हमारे लंग  इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है                                                                                                                                                   
  • अपने बच्चों को पटाखे छोड़ते समय एक लंबी लकड़ी का प्रयोग करना चाहिए जिससे हाथ ना जले                                                                    
  • पटाखों में बहुत ज्यादा बारूद का प्रयोग किया जाता है इससे बचने के लिए हमेशा अपने बच्चों को उचित सलाह देनी चाहिए अपने बच्चों को पटाखे अपनी देखरेख में छोड़ने छुड़वाने चाहिए                                              
  • पटाखों मैं  अत्याधिक ध्वनि के पटाखे नहीं चलाने चाहिए इससे हमारे कान का पर्दा फट सकता है हम जिंदगी भर के लिए बहरे हो सकते हैं                                                                                                                          
  • पटाखे छोड़ते समय हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि आसपास कोई ज्वलनशील बस्तु  तो नहीं है या कोई सामान तो नहीं है अगर है तो उसे वहां से हटा दें या फिर उस से उचित दूरी बनाकर चलाए                               
  • पटाखों से हमारी आंखें जा सकती है पटाखे चलाते समय जो रोशनी होती है उससे हमारी आंखें खराब हो सकती है इसलिए हमेशा चश्मा पहनकर पटाखे चलाने चाहिए                                                                                
  • पटाखों से अगर हमारी आंखों में कुछ भी दिक्कत हुई है तो तुरंत हमें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए कभी  भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए                                                                                                                              
  • यदि हमारी त्वचा जल गई है तो हमें त्वचा रोग विशेषज्ञ से उचित परामर्श लेना चाहिए प्राथमिक  उपचार के लिए कोई एंटीसेप्टिक क्रीम अपने पास खरीद कर रख लेनी चाहिए                                                                     
  • हमेशा उचित और ब्रांडेड पटाखे ही खरीदने चाहिए                                                                                           
  • `दिवाली पटाखों के साथ साथ हम जानते हैं खुशियों का त्योहार है इसलिए सभी के गले लगने चाहिए बुजुर्गों का आशीर्वाद लेना चाहिए                                                                                                                               
  • पटाखे छोड़ते समय अपने बच्चों के साथ हमेशा रहना चाहिए उनको उचित सलाह देनी चाहिए                            
  • क्योंकि हर बार कोई ना कोई घटना हो जाती है इसलिए खुशियां मनाएं लेकिन  उचित तरीके से मिठाइयां खाए पकवान बनाए पटाखे कम ही चलाएं क्योंकि पटाखों से  प्रदूषण होता है                                                   
  • पटाखों में कम बारूद वाले पटाखे ज्यादा इस्तेमाल करने चाहिए क्योंकि इनसे प्रदूषण भी कम होता है और यह नुकसान भी कम करते हैं                                                                                                                            
  • पटाखों से हमेशा सावधान रहिए क्योंकि आप हैं तो ही खुशियां हैं इसलिए रोशनी कीजिए सजावट कीजिए रंगोली सजाई है                                                                                                                                          
  • हैप्पी दिवाली और सुरक्षित दिवाली                                        धन्यवाद यदि हमारी सावधानियां अच्छी लगी तो हमें नीचे दिए गए लिंक पर फॉलो करें 
https://www.tipstool.in/