Recents in Beach

how loan process works|personal loan in hindi|loan against property|mortgage in hindi|types of loan in hindi full detail|home loans kese le|personal loans|bank loans process in hindi full|education loan



how loan process works|personal loan in hindi|loan against property|mortgage in hindi|types of loan in hindi full detail|home loans kese le|personal loans|bank loans process in hindi full|education loan


how loan process works|personal loan in hindi|loan against property|mortgage in hindi|types of loan in hindi full detail|home loans kese le|personal loans|bank loans process in hindi full|education loan

आज देश में रोजाना नए नए बिजनेस नए-नए स्टार्टअप कंपनियां बन रही है आखिर इनके पास इतना पैसा आता कहां से है आखिर यह लोग इतना पैसा एक साथ कैसे इन्वेस्ट करते हैं इसका मुख्य कारण है लोन जी हां चौंकिए मत यदि आप कोई मिडल क्लास फैमिली से आते हैं और आप भी अपना बिजनेस खोलना चाहते हैं और आपके पास पैसे नहीं है तो यह जानकारी आपके लिए है इस जानकारी को आप शुरू से लेकर अंत तक पढ़िए क्योंकि इसमें हम आपको फुल डिटेल में बताएंगे कि बैंक कितना ब्याज दर पर पैसे आपको उधार देती हैं और बैंक लोन लेने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट की जरूरत होती है बैंक लोन किन किन चीजों पर उधार देती है बैंक लोन देने से मना करे तो आप का क्या अधिकार है हम बताएंगे आपको पूरी जानकारी इसलिए आप हमारे साथ बने रहिए और इसे शुरू से लेकर अंत तक पढ़िए

types of loan in hindi full detail:-

1#एजुकेशन लोन(Education loan) 

2#होम लोन(Home loan)
3#गोल्ड लोन(Gold loan)

4#सिक्योरिटी लोन(Security loan)

5#प्रॉपर्टी लोन(Property loan)

6#वाहन लोन(Vahan loan)

7#कॉरपोरेट लोन(Corporate loan)

8#बिजनेस लोन(Business loan)

9#प्रोजेक्ट लोन(Project loan)

10#फिक्स्ड डिपॉजिट लोन(Fixed deposite loan)

11#पर्सनल लोन(Personal loan)

how loan process works|personal loan in hindi|loan against property|mortgage in hindi|types of loan in hindi full detail|home loans kese le|personal loans|bank loans process in hindi full|education loan


1#एजुकेशन लोन(Education loan):-


एजुकेशन पर लोन जो पैसा बैंक से पढ़ाई के लिए लिया जाता है उसे एजुकेशन लोन कहते हैं एजुकेशन लोन की आवश्यकता उन लोगों को अधिक होती है जो कि हायर एजुकेशन प्राप्त करना चाहते हैं जैसे एमबीबीएस बीटेक पीजी इत्यादि यदि आप गरीब परिवार से हैं और आपका परिवार आपकी शिक्षा का खर्चा नहीं उठा सकते हैं तो आप एजुकेशन लोन ले सकते हैं एजुकेशन पर लोन आसानी से मिल जाता है लेकिन बैंक भी उन लोगों को लोन देता है जो कि उसको वापस चुका सके एजुकेशन पर लोन लेने के लिए आपको जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते हैं उस बैंक मैनेजर से मिलना पड़ेगा और और आवेदन फॉर्म प्राप्त करके आप उसे अच्छी तरह भर के तथा जो भी डॉक्यूमेंट एजुकेशन लोन लेने के लिए बैंक द्वारा मांगे गए हैं आप उनको अच्छी तरह से संलग्न करें एजुकेशन लोन लेने के लिए आपको कुछ दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी जैसे पहचान पत्र रेजिडेंस प्रूफ लोन फॉर्म कॉलेज से जो एडमिशन का चरित्र प्रमाण पत्र और  करैक्टर सर्टिफिकेट जो स्कूल से मिलता है गवाहों का शपथ पत्र आपका एफिडेविट इत्यादि जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते हैं उस बैंक में जो डॉक्यूमेंट की रिक्वायरमेंट है आप उन्हें अच्छी तरह पढ़कर संलग्न करें आज के समय में एसबीआई एजुकेशन लोन लगभग 7.5lakh  से ऊपर के लिए लगभग 10.55% ब्याज दर यदि आप मेल है और फीमेल कैंडिडेट के लिए 10.05% ब्याज दर लेती है

2#होम लोन(Home loan):-

घर को खरीदने और घर बनाने के लिए हम जो पैसा बैंक से कर्ज के रूप में लेते हैं उसे हम होम लोन कहते हैं बैंक घर बनाने के लिए हमारे कुल खर्च का लगभग 70 से 80 परसेंट तक आपको लोन देता है  बाकी 20 से 30 परसेंट आपको खुद ही रकम लगानी पड़ती है उदाहरण के लिए 10 लाख का घर है उसमें लगभग 7 से 8 लाख बैंक देता है और बाकी 2 से 3 लाख आपको ही लगाना पड़ता है एसबीआई द्वारा होम लोन के लिए ब्याज दर 8.30% से 8.60%फीमेल के लिए और सामान्य पुरुष के लिए  8.35% से 8.65% ब्याज दर लेता है होम लोन का पैसा चुकाने के लिए    समय लगभग 5साल से लगभग 20 साल तक होता है


3#गोल्ड लोन(Gold loan):-


यह लोन हमारे सोने के गहनों को गिरवी रख कर हम तत्काल बैंक से पैसा उधार ले सकते हैं इसे गोल्ड लोन कहा जाता है इस पर बैंक द्वारा और लोन से कम ब्याज दर होता है SBI द्वारा लगभग10.55% ब्याज दर तथा0.50%प्रोसेसिंग फीस लेता है इसी प्रकार आईसीआईसीआई बैंक द्वारा 10 परसेंट से16 परसेंट तक इंटरेस्ट रेट तथा लगभग 1 परसेंट तक प्रोसेसिंग फीस बैंक द्वारा लिया जाता है बैंक द्वारा लगभग 3 महीने से 36 महीने तक समय के लिए लोन दिया जाता है


4#सिक्योरिटी लोन(Security loan):-

सिक्योरिटी पर लोन का मतलब यह है कि यदि आपने कहीं पर अपना पैसा पहले इन्वेस्ट किया हुआ है जैसे कि म्यूचल फंड शेयर मार्केट या सरकारी स्कीम तो इन्हीं के डॉक्यूमेंट को अपने पास गिरवी रखकर आपको पैसे उधार देता है यदि आप उसके पैसे चुका नहीं पाते हैं तो उन सिक्योरिटी पेपर को जप्त करके उससे अपने पैसों की भरपाई करता है तथा लगभग बैंक  द्वारा 13से14 परसेंट तक ब्याज दर लिया जाता है


5#प्रॉपर्टी लोन(Property loan):-

यदि आपको पैसे की आवश्यकता है तो आप अपनी प्रॉपर्टी के कागज को  गिरवी रखकर आप बैंक से पैसा उधार ले सकते हैं प्रॉपर्टी का मतलब है आपके खेत खलियान मकान दुकान इत्यादि  बैंक द्वारा लगभग 10.65% से 11.65 %ब्याज दर लिया जाता है हमेशा हमें ध्यान रखना चाहिए कि हमें उस बैंक से लोन लेना चाहिए जो बैंक ब्याज दर सबसे कम पर हमें रुपए उधार दे रहा हो प्रॉपर्टी पर लोन लेने के लिए हमें कई दस्तावेज की अति आवश्यकता होती है जैसे प्रॉपर्टी के डॉक्यूमेंट एड्रेस प्रूफ आईडी प्रूफ आपने पहले कहीं लोन तो नहीं लिया है उसका प्रूफ और प्रॉपर्टी में कितने भागीदार हैं उसका मंजूरी नामा


6#वाहन लोन(Vahan loan):-

यदि आपके पास कोई वाहन कार ट्रक बस आदि नहीं है और आप उस वाहन को खरीदना चाहते हैं जैसे कोई व्यक्ति कार खरीदना चाहता है तो कार के लिए आपको बैंक द्वारा लोन दिया जाता है उसे हम कार पर लोन कहते हैं हमेशा कार अथवा वाहन पर लोन फ्लोटिंग तथा निश्चित दर पर दिया जाता है फ्लोटिंग का मतलब है कि यदि समय के साथ ब्याज दर घटता है या बढ़ता है तो आपको उतने ही पैसे देने होंगे और निश्चित दर का मतलब यह होता है कि जिस टाइम आपने लोन लिया था उस समय समय फिक्स जो दर थी उसी दर के हिसाब से आपको पैसे चुकाने होंगे बैंक द्वारा लगभग 9 से 10 परसेंट तक ब्याज दर पर लोन दिया जाता है जब आप कार लोन ले रहे हो तो हमेशा ध्यान रखें कि हमें उस बैंक से लोन लेना चाहिए जो कि हमें कम ब्याज पर पैसे उधार दे रहा हूं बैंक द्वारा लगभग 7 साल तक के लिए भी पैसा उधार दिया जाता है

7#कॉरपोरेट लोन(Corporate loan):-

कॉरपोरेट लोन बड़े-बड़े उद्योगपतियों को दिया जाता है जैसे अंबानी अदानी टाटा बिरला विजय माल्या सुब्रत रॉय बैंक द्वारा लगभग 25 परसेंट से 50 परसेंट तक कोर कैपिटल का बैंक द्वारा दिया जाता है फिलहाल में हुए घोटालों की वजह से आरबीआई ने अब यह रेट core कैपिटल का 25 परसेंट तक कर दी है कॉरपोरेट लोन हमेशा शाखा द्वारा सीधा कंपनी को दिया जाता है उसे अलग-अलग लोन के लिए भटकना नहीं पड़ता है

8#बिजनेस लोन(Business loan):-

बैंक द्वारा कोई भी  बिजनेस करने के लिए आपको लोन दिया जाता है उसे बिजनेस लोन कहते हैं बिजनेस लोन को प्राप्त करने के लिए बैंक की कुछ शर्ते होती है जैसे आपका बिजनेस लगभग कम से कम 5 साल उसी एरिया में हो तथा ओनर के साथ एक एग्रीमेंट होता है तथा किसी बैंक में कम से कम 2 साल के लिए चालू खाता होना चाहिए व्यवसाय के लिए लोन हमेशा वर्तमान की परिसंपत्तियों का निर्माण और व्यावसायिक उद्देश्य के लिए आवश्यक अचल संपत्तियां इसका उद्देश्य होता है बिजनेस लोन के लिए लगभग sbi द्वारा  11.20%  इंटरेस्ट रेट होता है

9#प्रोजेक्ट लोन(Project loan):-

यदि आप किसी प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं तो बैंक मैनेजर द्वारा आपके प्रोजेक्ट को पास करने के बाद जो लोन दिया जाता है वह प्रोजेक्ट लोन होता है प्रोजेक्ट लोन कोई प्राइवेट या सरकारी प्रोजेक्ट पर बैंक द्वारा आप को दिया जाता है बहुत लोगों को इस लोन के बारे में जानकारी भी नहीं है प्रोजेक्ट लोन एक तरीके से आपके प्रोजेक्ट अर्थात प्रोजेक्ट प्रोफाइल जिस पर आप काम कर रहे है प्रोजेक्ट लोन देने वाली बैंक और फाइनेंस सर्विसेज कंपनी  आईसीआईसीआई बैंक फेडरल बैंक इंडेक्स आफ फाइनेंस प्रोजेक्ट लोन एसबीआई प्रोजेक्ट फाइनेंस इत्यादि प्रोजेक्ट लोन देती है प्रोजेक्ट लोन लेने के लिए आपको संबंधित बैंक या फाइनेंस सर्विसेज जैसे आप लोन लेना चाहते हैं उसमें अपने प्रोजेक्ट को मैनेजर को दिखाकर उसको अप्रूव करवा कर हम लोन उठा सकते हैं प्रोजेक्ट लोन मैं लगभग 10 से 15 परसेंट तक ब्याज दर देना पड़ता है

10#फिक्स्ड डिपॉजिट लोन(Fixed deposite loan):-

जब भी आपकी इच्छा होती है कहीं घूमने जाने की तत्काल परिवार या चिकित्सा उपचार के लिए धन की आवश्यकता हो तो आप एफडी को तोड़े बिना एफडी पर लोन ले सकते हैं फिक्स्ड डिपॉजिट पर लोन लेने के लिए यदि आपने FDकरवाया हुआ है तो बैंक द्वारा हम उसे लोन के रूप में प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि हम बैंक में फिक्स डिपॉजिट इसलिए जमा करते हैं ताकि हमारा पैसा हमें भविष्य में काम आ सके और हमारा फ्यूचर अच्छा रहे कोई इमरजेंसी में हम तत्काल बैंक से लोन के रूप में इसको ले सकते हैं अर्थात एफडी को लोन के रूप में ले सकते हैं इसके लिए बैंक बहुत ही कम ब्याज दर पर आपको पैसे देता है एफडी लोन में हम लगभग 70 से75 परसेंट तक हम लोन के रूप में ले सकते हैं और यदि हमारी एफडी को बाद में इंस्टॉलमेंट के रूप में जमा कर सकते हैं बैंक द्वारा लगभग 1 परसेंट ब्याज दर पर फिक्स्ड डिपॉजिट लोन दिया जाता है तथा कोई भी प्रोसेसिंग फीस नहीं लगती है

11#पर्सनल लोन(Personal loan):-



पर्सनल लोन जैसा कि नाम से ही पता पड़ रहा है पर्सनल काम के लिए बैंक से जो लोन लिया जाता है उसे पर्सनल लोन कहते हैं अपने पर्सनल कामों जैसे कोई घर का सामान खरीदना हो बच्चों की फीस अपने घर में जरूरत का सामान पर purchase करने के लिए आप अपना पर्सनल काम के लिए जो लोन लेते हैं एसबीआई बैंक द्वारा लगभग 16.60% इंटरेस्ट रेट पर हमें पर्सनल लोन दिया जाता है पर्सनल लोन की ब्याज दर सभी लोगों में अत्याधिक होती है क्योंकि सभी लोग अपनी जरूरत के कामों के लिए अधिकतर पर्सनल लोन लेते हैं पर्सनल लोन आसानी से मिलने के लिए आप यहां तो गवर्नमेंट कर्मचारी हो या फिर कोई प्राइवेट कंपनी में हो और आपकी इनकम लगभग ₹24000/month होनी चाहिए तब आपको आसानी से पर्सनल लोन मिल जाएगा


बैंक लोन लेने के लिए अति आवश्यक दस्तावेज:-



वैसे तो बैंक द्वारा जब आप लोन लेने जाएंगे तो आपको अलग-अलग लोन के हिसाब से अलग-अलग दस्तावेज प्रोवाइड करने पड़ते हैं बैंक के लिए लेकिन सभी में जो दस्तावेज कंपलसरी है हम उन्हें बता रहे हैं बैंक लोन के लिए मुख्य डॉक्यूमेंट

1#प्रूफ आफ रेजिडेंस 

2#प्रूफ आफ आईडेंटिटी (vote card adhar DL)

3#बैंक पासबुक


4#लेटेस्ट बैंक स्टेटमेंट स्लीप


5#सैलरी स्लिप यदि आप एम्पलाई है


6#एफिडेविट



यह है अति आवश्यक डॉक्यूमेंट है जो कि हर लोन को प्राप्त करने के लिए आवश्यक हैं और अतिरिक्त डॉक्यूमेंट जो हम लोन उठा रहे हैं उसके अनुसार लगेंगे जैसे एजुकेशन तो एजुकेशन से संबंधित सभी डाक्यूमेंट्स


बैंक से लोन लेने के अधिकार(Bank loan rights)
Rights

बैंक से लोन लेने के अधिकार(Bank loan rights):-



यदि बैंक मैनेजर द्वारा आप को लोन देने से मना कर दिया है और आपके सारे डॉक्यूमेंट पूरे हैं फिर भी आपको लोन नहीं दे रहा है तो आपके कुछ अधिकार है वह आपको बताने जा रहा हूं सबसे पहले तो आप बैंक मैनेजर से पूछिए कि हमें बैंक लोन देने से किस कारण मना किया जा रहा है और हमारे डॉक्यूमेंट पूरे नहीं है तो क्या कारण है जिसकी वजह से हमें लोन लेने से रिजेक्ट किया जा रहा है यदि वह कारण नहीं बताता है तो आपके पास एक अधिकार है सूचना का अधिकार आप बैंक मैनेजर यहां बैंक से पूछ सकते हैं सूचना का अधिकार आरटीआई लगाकर कि पिछले साल में कितने लोगों को आपने लोन प्रोवाइड किया और आपने उनको लोन देने के लिए क्या क्या डाक्यूमेंट्स लगवाए और क्या क्या शर्त आपने लगाई और कौन सी सरसों की वजह से आपको लोन नहीं मिल पाया इन सबको आप आरटीआई लगाकर पूछ सकते हैं यदि बैंक मैनेजर द्वारा घूस लेकर भ्रष्टाचार करके किसी को  लोन दिया है तो आप उसको पकड़वा सकते हैं यह था आपका सूचना का अधिकार (RTI)

Achar sahita kya hai 


हमें आशा है कि सभी प्रकार के लोन के बारे में जानकारी आपको अच्छी लगी होगी यदि यह जानकारी अच्छी लगी है तो कृपया शेयर करें और हमारी साइट के नीचे राइट कॉर्नर पर बैल के बटन को क्लिक करें और एलाऊ करें क्योंकि हम इसी प्रकार आपको जरूरी इंफॉर्मेशन प्रोवाइड करते रहेंगे और हमारे Google+ फॉलो करना ना भूलें धन्यवाद

Older post:-

ecommerce kya hai

mobile network kese kam karta hai janiye

Post a Comment

0 Comments